रामपुर : विदेश भेजने के नाम पर ठगियों ने युवक से ठगे एक लाख रूपये, थमाया नकली वीज़ा और दस्तावेज़, मुरसेना का मामला

Nov 19, 2023 - 13:39
Nov 19, 2023 - 17:25
 0  1619
रामपुर : विदेश भेजने के नाम पर ठगियों ने युवक से ठगे एक लाख रूपये, थमाया नकली वीज़ा और दस्तावेज़, मुरसेना का मामला

रामपुर ज़िले से विदेश भेजने के नाम पर धोखाधड़ी का बड़ा मामला सामने आया है खबर के मुताबिक रामपुर ज़िले के स्वार तहसील के अंतर्गत बगाड़खा  गांव के रहने वाले शाबू खान पुत्र हसीन दूल्हा खान पेशे से वेल्डिंग के कारीगर है जो  विदेश जाना चाहते थे ,(कुवैत,दुबई) जिसके लिए वह एक अच्छे एजेंट की तलाश कर रहे थे,

एक दिन ज़ब वह किसी काम के चलते मुरसेना अड्डे से गुज़रे तो उन्होंने मुरसेना में स्वार रोड पर हाईवे के पास अफ़रान टूर एंड ट्रॉवेल नाम से एक दुकान देखी, जहाँ विदेश भेजनें के विज्ञापन लगा रखे थे, बताया गया है कि टूर एंड ट्रवेल कम्पनी चलाने वाले यह लोग लड़को को बहार विदेश भेजने का काम करते हैं,आरोपियों ने किसी तरह पीड़ित शाबू खान को विदेश भेजने के नाम पर अपने जाल में बड़ी आसानी से लिया,


  विदेश जाने के सिलसिले में  धोखाधड़ी का शिकार हुए शाबू अपने पिता हसीन दूल्हा खान के साथ अफ़रान टूर एंड ट्रवेल के ऑफिस मुरसेना पर गए तो मालूम हुआ विदेश भेजने यह कम्पनी लोगो को कुवैत,क़तर, बहरीन, सऊदी अरब, ओमान और  UAE (संघयुक्त अरब अमीरात) भेजते थे, विदेश भेजने वाली कपंनी तीन लोग चला रहे थे जो आपस में पार्टनर थे,,जिनमे एक का नाम अलीमुद्दीन पुत्र शमशुद्दीन निवासी रतुपुरा ठाकुरद्वारा ज़िला मुरादाबाद दूसरे का नाम का मोहम्मद इरशाद पुत्र मेहंदी हसन निवसी गोपीवाला ज़िला मुरादाबाद जबकि तीसरे व्यक्ति का नाम नरेश मास्टर जो मुरसेना के एक स्कूल में टीचर है निवासी ज़िला रामपुर बताया गया  है यह तीनो मिलकर मुरसेना अड्डे पर स्वार रोड  हाईवे पर अफ़रान टूर एंड ट्रवेल ( Afran International Tour & Travels) नाम की कम्पनी चलते थे, 


पीड़ित शाबू खान ने बताया कि जब वह उनसे मिला और उन्हें बताया कि वह काम करने के लिए विदेश जाना चाहते हैं, उन्होंने कहा ठीक है हम आपको विदेश भेज देंगे, आप ज़रूरी दस्तावेज़ ,अपने काम का टेस्ट सर्टिफिकेट एक्सपीरियंस लेटर (Experience LATTER) और पासपोर्ट जमा कर दो हम आपका रिज़ूम (rezume) बनाकर कम्पनी को भेज देंगे, दो तीन दिन में सिलेक्शन की लिस्ट आ जायगी अगर आपका सिलेक्शन हो गया तो आपको मेडिकल करना होगा,जिसके बाद आपको वीज़ा मिल जायगी, जिसके बाद पीड़ित शाबू खान ने उनसे पूछा कि इन सारे काम में खर्चा क्या आएगा तो उन्होंने बताया कि आपका एक लाख का खर्चा आएगा जिसमे आपका वीज़ा का खर्चा, फ्लाइट का खर्चा और स्टम्पिंग आदि का खर्चा शामिल है, उन्होंने यह भी कहा आप आधा पैसा वीज़ा आने के बाद और आधा टिकट के बाद देंगे, बातचीत के बाद शाबू खान ने अपने सारे दस्तावेज़ अफ़रान टूर एंड ट्रवेल कम्पनी के ऑफिस में दे दिए, 

जिसके बाद उन लोगो ने कहा कि हम दिन दीं बाद सिलेक्शन लिस्ट आने के बाद आपको फ़ोन करेंगे, तीन दीं बाद उधर से कॉल नहीं आने के बाद पीड़ित शाबू खान ने उन्हें कॉल किया तो उन्होंने बताया की आपका सिलेक्शन हो गया है और आप कल हमारे साथ मेडिकल कराने दिल्ली जाओगे,जिसके बाद शबू खान 10 हज़ार रूपये लेकर मेडिकल कराने दिल्ली गए जब उनका मेडिकल हुआ

तो उन लोगो ने उनका मेडिकल कराकर उन्हें घर भेज दिया और कहा कि जैसी ही आपकी मेडिकल की रिपोर्ट आएगी,जब दो दिन बाद मेडिकल की रिपोर्ट आई तो शाबू को बताया गया आपकी मेडिकल रिपोर्ट् ठीक है आप फ़ीट हो ,अब जल्द ही आपकी वीज़ा 15 में आ जायगी लेकिन वीज़ा 28 बाद आई तो वे बोले अब आप आधे पैसे जमा करिये बाकि बचे पैसे ओरिजनल वीज़ा और टिकट के बाद जमा करना, जिसके बाद शाबू खान ने आधे पैसे जमा कर दिए 

करीब बीस दिन बाद अफ़रान कम्पनी से शाबू के पास फ़ोन आया जिसमे कहा गया कि आपका टिकट किस तारीख का कराये जिस पर शाबू ने कहा आप मेरा टिकट दिसंबर की 13 तारीख

उन्होंने आगे बताया कि मै घर से निकला तो रास्ते में ज़ब रात में एक जगह हमारी गाड़ी रुकी तो करीब रात 3: 30 बजे अलीमुद्दीन का फोन आया और मुझे उन्होंने बताया कि आपकी फ्लाइट रद्द (केंसिल ) हो गयी है आप अपने घर चले जाओ, ज़ब पीड़ित शाबू खान ने अलीमुद्दीन से पूछा मेरी फ्लाइट केंसिल क्यों हुई तो उन्होंने बोले किसी कारण कि वजह से आपकी फ्लाइट रद्द हो गई,

इस पर पीड़ित शाबू खान ने कहा कि ज़ब मेरे सारे दस्तावेज़ सही दिए हैं और पूरे पैसे टाइम पर दिए हैं तो गलती कैसे हो सकती है. और अब फ्लाइट रद्द बोल रहे हो,  रात 4 बजे अलीमुद्दीन ने कहा कि अब आप घर जाओ जिस पर शाबू खान ने कहा कि मै घर नहीं जाओगे मेरे घर वाले क्या कहेगे आप एक दो दिन बाद का टिकट करदो, ज़ब तक में दिल्ली में रुक जाऊंगा, लेकिन में घर नहीं जा सकता मेरे परिवार वाले क्या करेंगे वह बड़ी उम्मीदों से मुझे बाहर भेज रहे हैं, जिस पर अलीमुद्दीन ने कहा आप ज़ाकीरनगर आ जाओ मेरे फ्लैट पर, आप यही से चले जाना और इस वक़्त अपने भाइयो को वापस घर भेज दो,


पीड़ित शाबू ने आगे बताया ज़ब वह ज़ाकिर नगर पहुचे तो अलीमुद्दीन ने अपना फोन बंद कर लिया, कई घंटे वह परेशान रहा जिसके बाद शाबू खान ने दूसरे एजेंट  मुहम्मद इरशाद को फ़ोन लगाया तो उनका नंबर भी बंद आया उन्होंने भी अपना नंबर बंद कर लिया, बाद में परेशान होकर शाबू खान ने तीसरे एजेंट मुरसेना के नरेश मास्टर को फ़ोन  किया तो उनका नंबर भी बंद था, जिसके बाद शाबू खान लौट कर घर आ गए,  जिसके बाद अगले दिन फिर अलीमुद्दीन को कॉल किया तो वो बोला एक दो दिन में टिकट कर वाले दूंगा अलीमुद्दीन लगाकर बहाने बनता रहा करीब 10 दिन बीत गए लेकिन कोई टिकट हुआ

 कई दिन बीतने के बाद अलिमुद्दीन ने कहा आपके सारी चीज ख़राब हो गई है अब दुबारा से से होगा, जिसपर शाबू ने कहा मेने आपको एक लाख रूपये दिए हैं और आप बोल रहे हो सारी चीज़े ख़राब हो गई हैं,

 ज़ब शाबू को इन तीनो एजेंटो पर शक हुआ तो उन्होंने सारे दस्तावेज़ और वीज़ा और मेडिकल रिपोर्ट चैक कराया तो वह सब नकली निकले, यह जानकार पीड़ित शाबू खान के होश उड़ गए,जो दस्तावेज़ इन तीनो एजेंटो ने बनाकर दिए सब के सब नकली पाए गए,

परेशान होकर पीड़ित शाबू खान ने उनसे कहा आप उसके पैसे वापस लौटा दो, मै अब बाहर नहीं जा रहा, जिस पर उन्होंने कहा पैसे नहीं देंगे आपको बाहर भेजवा देंगे, परेशान होकर शाबू खान अपने भाई के साथ अलीमुद्दीन के गांव रतूपुरा ठाकुरद्वारा मुरादाबाद गए और घर पर उन्हें आवाज़ दी तो अलीमुद्दीन पीछे के दरवाज़े से भाग गया, जिसके बाद अलीमुद्दन और मुहम्मद इरशाद ने शाबू खान का नंबर ब्लैक लिस्ट में दाल दिया,

अगले दिन नए नंबर से कॉल कि तो उसने कहा कुछ दिन रुक जाओ आपके एक लाख रूपये लौटा दूंगा, समय बीतता गया लेकिन उसने पैसे नहीं लौटाये, दो महीने बेवकूफ बनाते रहे जिसने बाद जनवरी 2023 की आखिर में पैसे लौटा दूंगा, ज़ब शाबू का 20  जनवरी को ठाकुरद्वारा गए तो अलीमुद्दीन ने कहा वह जल्द पैसा लौटा देगा,


कई दिन बीतने के बाद अलीमुद्दिन ने कहा अगर तू पुलिस या मंत्री के पास जायगा तो तेरे पैसे नहीं मिलेंगे प्यार से मांगेगा तो मिलेगे, या अपनी मर्ज़ी से पैसे लौटाऊँगा,जनवरी भी बीत गई लेकिन अलीमुदीदन इरशाद ने पैसे नहीं लौटाये, अलीमुद्दीन और इरशाद ने तो अपना नंबर परमानेंट बंद कर लिया, इसके बाद जब वह मास्टर नरेश के पास गए तो वह बोले मेरे साथ भी धोखा हुआ हैं हालांकि वो उनके साथ मिले हुए थेे शाबू खान का कहना है कि मेरे साथ- साथ 10 और लड़को को भी धोखा दिया

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow